Latest News

Showing posts with label Latest News. Show all posts
Showing posts with label Latest News. Show all posts

Friday, December 1, 2023

सीएम योगी ने विपक्ष पर कसा तंज कहा 'जिन्होंने रात में बेखौफ बस्तियां लूटीं, वही नसीब के मारों की बात करने लगें...'

लखनऊ: नेता सदन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शीतकालीन सत्र में अनुपूरक बजट पर शायराना अंदाज में नेता विरोधी दल पर हमला बोलते हुए कहा कि बड़ा हसीन है उनकी जबान का जादू, लगा के आग बहारों की बात करते हैं, जिन्होंने रात में बेखौफ बस्तियां लूटीं, वही नसीब के मारों की बात करते हैं...। मुझे अफसोस हो रहा था कि नेता विरोधी दल लीक से हटकर आजकल बोलने के आदी हो चुके हैं। ये बीमारी केवल यहीं पर नहीं आई है, जो बीमारी बिहार में देखने को मिल रही है, वही यहां देखने को मिल रही है। यूपी विधानमंडल में पिछले 6-7 वर्षों में चर्चा परिचर्चा का माहौल बना है। वर्ष 2022 के बाद सकारात्मक पहल हुई है। इसमें विरोधी पक्ष के लोग खूब तैयारी करके आना चाहते हैं। ईश्वर करे ये हमेशा विपक्ष में बैठे रहें। 


यह भी पढ़ें: Breaking News: Aligarh के बाद अब UP के इस शहर के नाम बदलने पर लगी मुहर

ये नये भारत का नया यूपी है

नेता सदन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष प्रदेश में 2012 से 2017 के बीच मुख्यमंत्री के रूप में अपनी सेवा दे चुके हैं। कई बार सांसद में भी रहे हैं। ऐसे में, उन्हें सप्लीमेंट्री डिमांड के बारे में थोड़ी और जानकारी कर लेनी चाहिये थी। वर्ष 2017 के पहले उत्तर प्रदेश अराजकता, गुंडागर्दी, भ्रष्टाचार, अव्यवस्था और पहचान के संकट वाला प्रदेश बन चुका था। वहीं, वर्ष 2017 के बाद वाला यूपी डबल इंजन की ताकत से आगे बढ़ रहा है। आज यूपी के बारे में लोगों की धारणा बदली है। उन्हें सम्मान की दृष्टि से लोग देखते हैं। ये नये भारत का नया यूपी है। दुनिया में जिस तरह भारत के लिए दृष्टिकोण बदला है, वैसे ही देश में यूपी को लेकर लोगों की धारणा बदली है। ये बदला परसेप्शन ही यूपी की सबसे बड़ी पहचान है। सरकार वन ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी को लेकर पूरी प्रतिबद्धता के साथ काम कर रही है। इससे विरोधी दल के सदस्यों को प्रसन्नता होनी चाहिए, क्योंकि प्रदेश आगे बढ़ेगा तो हर व्यक्ति को उसका लाभ मिलेगा।  

यह भी पढ़ें: भारत संकल्प यात्रा कार्यक्रम में दी योजनाओं की जानकारी, पीएम किसान योजना के लाभार्थियों को मिला प्रमाण पत्र

आज रेवेन्यू सरप्लस के लिए जाना जा रहा है यूपी

नेता सदन सीएम योगी ने कहा कि वर्ष 2016-17 में यूपी की जीएसडीपी लगभग 13 लाख करोड़ थी। वहीं, वर्ष 2023-24 में लगभग साढ़े 24 लाख करोड़ की ओर पहुंच रही है। ऐसे में, हम लगभग दोगुने की ओर बढ़ चुके हैं। उत्तर प्रदेश की वर्ष 2015-16 में पर कैपिटा इनकम 43 हजार के आसपास थी, वह वर्ष 2022-23 में बढ़कर दोगुने से अधिक लगभग 83 हजार हो चुकी है। वर्ष 2023-24 के आंकड़े आएंगे तो इसमें और भी वृद्धि होगी। ऐसे में, बजट का आकार भी बढ़ा है। देश की 16 फीसदी यानी 25 करोड़ की आबादी यूपी में निवास करती है। यूपी में 2012 और 17 के बीच औसत बजट 2 लाख 70 हजार करोड़ के आस पास था। वहीं, 2022-23 का औसत 5 लाख 23 हजार करोड़ हुआ है। हमारा मूल बजट 6 लाख 90 हजार करोड़ है जबकि 28 हजार करोड़ के अनुपूरक बजट के साथ ये 7 लाख 19 हजार करोड़ का अब तक का सबसे बड़ा बजट है, जिसे सरकार लेकर आई है। सरकार इस बजट के साथ प्रदेश के सर्वांगीण विकास की ओर बढ़ रही है। नेता सदन ने कहा कि जब सरकार अपना बजट लाती है तो इस बात का ध्यान रखती है कि सोर्स ऑफ इनकम है या नहीं। आय और व्यय के संतुलन को ध्यान में रखना होता है। प्रदेश का राजकोषीय प्रबंधन बेहतरीन ढंग से आगे बढ़ रहा है। यूपी जैसा राज्य रेवेन्यू सरप्लस के रूप में जाना जा रहा है। 

यह भी पढ़ें: महीने के पहले दिन इन राशियों को मिलेंगी खुशियां, इनको होगा बिजनेस में नुकसान, पढ़ें आज का राशिफल

राज्य का कर राजस्व डेढ़ लाख करोड़ तक पहुंचा

नेता सदन सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में 2016-17 में राज्य का कर राजस्व 86 हजार करोड़ था। ये 2021-22 में बढ़कर डेढ़ लाख करोड़ तक पहुंचाने में सफल हुआ है। प्रदेश में स्टांप एंड रजिस्ट्रेशन में लगभग 11 हजार करोड़ रुपए 2016-17 में प्राप्त हुए थे, आज यही बढ़कर 23-24 में 34 हजार करोड़ रुपए हो गया है। वहीं वैट एवं टैक्स के आधार पर वर्ष 2016-17 में सेल टैक्स 49 हजार करोड़ था, आज डेढ़ लाख करोड़ पर पहुंच रहा है। स्टेट एक्साइज में वर्ष 2016-17 में कुल 14 हजार करोड़ प्राप्त हुए थे जो आज 58 हजार करोड़ रुपए पर पहुंच रहा है। पहले परिवहन में 5 हजार करोड़ का राजस्व प्राप्त होता था वहीं अब 12 हजार करोड़ की राशि से अधिक प्राप्त हो चुका है।

यह भी पढ़ें: नई पेंशन योजना नहीं बन सकती बुढ़ापे की लाठी का सहारा

Wednesday, November 29, 2023

बनारस के चौबेपुर पर फ़िदा हुए प्रदीप पांडेय चिंटू

वाराणसी: चौबेपुर बेहद कम उम्र से फिल्मों में सक्रिय हुए अभिनेता प्रदीप पांडेय चिंटू अपने फिल्मी कैरियर में एक से बढ़कर एक हिट फिल्मों के लिए जाने जाते हैं। 2009 में आई फ़िल्म दीवाना से उन्होंने अपने फ़िल्मी कैरियर की शुरुआत किया था, उसके बाद तो उनके पास जैसे फिल्मों की लाइन ही लग गई और एक से बढ़कर एक सुपरहिट फिल्में साल दर साल उन्होंने इंडस्ट्री को दिया है। कोरोना काल से जब ये फ़िल्म इंडस्ट्री बुरी तरह से प्रभावित हुई थी तब भी चिंटू पाण्डेय के पास फिल्में उपलब्द्ध थीं। 



लगातार अपने काम को लेकर डेडिकेटेड रहे प्रदीप पांडेय चिंटू ने उसके बाद से अपने लिए कुछ बेहतर कैरेक्टर की तलाश में लग गए। उन्होंने कई फिल्मों को सिर्फ इसलिए ना कह दिया क्योंकि उनमें कुछ नयापन नहीं था और बस एक ही पैटर्न पर फिल्में आधारित हुआ करती थीं। तब एक दिन इनके पास प्रसिद्ध निर्देशक केडी उर्फ दिनकर कपूर लेखक वीरू ठाकुर के साथ आए और इन्होंने चिंटू को फिदा की कहानी सुनाई। 

इस कहानी को सुनने के बाद चिंटू ने तुरंत हाँ कर दिया और तब फ़िल्म फिदा की तैयारियाँ शुरू हो गईं । इस फ़िल्म में चिंटू का किरदार बेहद गम्भीर है । त्रिकोणीय प्रेम सम्बन्धों पर आधारित यह फ़िल्म बनारस के चौबेपुर में शूट की जा रही है। यहां बनारस में इस फ़िल्म की शूटिंग आगामी एक महीने तक चलेगी। 


निर्माता जनक शाह ने बताया कि इस फ़िल्म को लेकर वे भी बहुत उत्साहित हैं। इसके पहले भी वे दिनकर कपूर के निर्देशन में अभिनेता दिनेश लाल यादव के साथ रिश्तों का बंटवारा फ़िल्म बना चुके हैं। ये फ़िल्म बहुत बड़ी हिट साबित हुई थी। 
                                     

रवि इंटरप्राइजेज के बैनर तले बन रही फिल्म फिदा के निर्माता हैं जनक शाह व निर्देशन कर रहे हैं दिनकर कपूर ( K.D ) । फ़िल्म फिदा का लेखन किया है वीरू ठाकुर ने , वहीं संगीत निर्देशन किया हैं राजकुमार पांडेय व गुणवंत सेन ने । फ़िल्म के छायाकार हैं देवेंद्र तिवारी । फ़िल्म फिदा में प्रदीप पांडेय चिंटू के साथ संयोगिता यादव मुख्य भूमिका में हैं। 


वहीं नवोदित अभिनेत्री आरोही इस फ़िल्म से अपने फिल्मी कैरियर का शुरुआत कर रही हैं जिनके साथ राजवीर सिंह राजपूत, सुशील सिंह, सन्तोष पहलवान व नीलम पाण्डेय भी फ़िल्म में मुख्य भूमिका में हैं तथा बाकी सभी सहयोगी कलाकर भी फ़िल्म में नज़र आने वाले हैं। फ़िल्म के प्रचारक संजय भूषण पटियाला हैं।

Monday, November 20, 2023

पुरानी पेंशन बहाली के समर्थन में हड़ताल पर जाने हेतु कर्मचारी शिक्षक भरेंगे सहमति पत्र

वाराणसी: पुरानी पेंशन बहाली हेतु हड़ताल पर जाने के लिए पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मंच (एनजेसीए) के अंतर्गत सहमति पत्र भरवाने के लिए समस्त विभागों के कर्मचारियों शिक्षकों की बैठक कोषागार कार्यालय के समक्ष आहूत की गई। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि 21नवम्बर को कोषागार कार्यालय व 22 नवम्बर को सिंचाई विभाग में सभी विभागों के कर्मचारी सहमति पत्र भरेंगे तथा पूर्व में सभी ब्लाक व तहसील स्तर पर कर्मचारियों द्वारा भरे गए सभी सहमति पत्र भी जमा किए जायेंगे जो प्रदेश स्तर पर प्रांतीय अध्यक्ष ई. हरि किशोर तिवारी एवं महामंत्री शिवबरन यादव राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश को प्राप्त कराए जाएंगे जहां प्रदेश स्तर के सभी विभागो के सहमत पत्र भरे जाने के आधार पर केंद्रीय कर्मचारी, रेलवे के साथ बैठक कर हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया जाएगा। 


यह भी पढ़ें: वाराणसी व्यापार मंडल और हिंदू जनजागृति समिति ने 'हलाल प्रमाणित' उत्पादों की बिक्री रोकने पर सीएम योगी को बधाई दी

आज की बैठक मे उक्त जानकारी देते हुए जिलाध्यक्ष शशिकान्त श्रीवास्तव व जिला मंत्री श्यामराज यादव ने सभी संगठनों के पदाधिकारियों से अपील की है की सहमति पत्र समय अंतर्गत भरवाने के उपरांत उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें जिससे बुढ़ापे की लाठी पुरानी पेंशन को सुरक्षित किया जा सके। आज की बैठक में दीपेन्द्र कुमार श्रीवास्तव (मण्डल अध्यक्ष)सुरेन्द्र पाण्डेय (वरिष्ठ उपाध्यक्ष), सुधांशु सिंह (सम्प्रेक्षक), दिनेश सिंह, हरेंद्र यादव, प्रमोद श्रीवास्तव, अमित श्रीवास्तव,मनीष सिंह, अतुल सिंह, अजीत, सुनील श्रीवास्तव,के के सिंह आदि शिक्षक कर्मचारियों द्वारा शत प्रतिशत हड़ताल में जाने का सहमति पत्र जमा करने का आश्वासन दिया गया।

यह भी पढ़ें: जिला महिला चिकित्सालय व चोलापुर सीएचसी में होगा हेल्दी बेबी शो का आयोजन

Saturday, November 18, 2023

अतिरिक्त भीड़ को देखते हुए रेलवे ने शुरू की छपरा-आनन्द विहार टर्मिनस-छपरा छठ पूजा विशेष गाड़ी

वाराणसी: रेलवे प्रशासन द्वारा छठ पूजा में यात्री जनता की हो रही अतिरिक्त भीड़ को ध्यान में रखते हुये यात्रियों की सुविधा हेतु 05075/05076 छपरा-आनन्द विहार टर्मिनस-छपरा छठ पूजा विशेष गाड़ी का संचलन 20 एवं 23 नवम्बर, 2023 दिन सोमवार एवं बृहस्पतिवार को छपरा से तथा 21 एवं 24 नवम्बर, 2023 दिन मंगलवार एवं शुक्रवार को आनन्द विहार टर्मिनस से दो फेरों के लिये किया जायेगा। इसमें यात्रा करने वाले यात्रियों को कोविड-19 के सम्बन्ध में समय-समय पर जारी सभी मानकों का पालन करना होगा। 


यह भी पढ़ें: रामनगर के करवट में अवैध प्लाटिंग पर चला विकास प्राधिकरण का जेसीबी

05075 छपरा-आनन्द विहार टर्मिनस छठ पूजा विशेष गाड़ी 20 एवं 23 नवम्बर,2023 को छपरा से 17.45 बजे प्रस्थान कर सीवान से 18.30 बजे, देवरिया सदर से 19.35 बजे, गोरखपुर से 20.55 बजे, खलीलाबाद से 21.37 बजे, बस्ती से 22.04 बजे, गोण्डा से 23.35 बजे, दूसरे दिन बुढ़वल से 00.42 बजे, सीतापुर से 03.05 बजे, बरेली से 06.50 बजे तथा मुरादाबाद से 08.25 बजे छूटकर आनन्द विहार टर्मिनस 11.50 बजे पहुंचेगी। 

यह भी पढ़ें: एहसान सोशल फाउंडेशन द्वारा नि:शुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया गया

वापसी यात्रा में 05076 आनन्द विहार टर्मिनस-छपरा छठ पूजा विशेष गाड़ी 21 एवं 24 नवम्बर,2023 को आनन्द विहार टर्मिनस से 14.45 बजे प्रस्थान कर मुरादाबाद से 17.55 बजे, बरेली से   19.15 बजे, दूसरे दिन सीतापुर से 00.15 बजे, बुढ़वल से 02.28 बजे, गोण्डा से 03.30 बजे, बस्ती से 04.43 बजे तथा खलीलाबाद से 05.14 बजे, गोरखपुर 06.25 बजे, देवरिया सदर से 07.25 बजे, तथा सीवान से 08.30 बजे छूटकर छपरा 09.30 बजे पहुंचेगी। 

यह भी पढ़ें: शिवपुर पुलिस ने एटीएम कार्ड बदलकर ठगी करने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश

इस गाड़ी की संरचना में एस.एल.आर.डी. के 02, साधारण द्वितीय श्रेणी के 05, शयनयान श्रेणी के 07, वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 02, वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी के 02, वातानुकूलित कुर्सीयान का 01 तथा वातानुकूलित प्रथम सह द्वितीय श्रेणी के 01 कोच सहित कुल 20 कोच लगाये जायेंगे। 

यह भी पढ़ें: छठ पूजा पर सूर्य का राशि परिवर्तन, पढ़ें आज का राशिफल

Friday, November 10, 2023

शराब के शौकीन पढ़ लें ये खबर, पीने वालों की दिवाली होगी फीकी

वाराणसी: त्‍यौहारों का सीजन शुरू हो गया है. शराब के शौकीनों के लिए त्‍यौहारों का सीजन बहुत खास होता है. ऐसे में आप यह जान लें कि धनतेरस, दिवाली और भैया दूत पर उत्तर प्रदेश में शराब की दुकानें बंद रहेंगी या खुली?. क्योकि 10 नवंबर को धनतेरस है और दो दिन बाद ही दिवाली है. एक तरफ लोग जहां धनतेरस पर सोने-चांदी और बर्तन आदि की खरीदारी कर रहे हैं वहीं, शराब के शौकीन पहले से ही शराब की बोतलें खरीद कर रख ले रहे हैं. 


यह भी पढ़ें: चौबेपुर के रुस्तमपुर में अधजला शव मिलने से इलाके में फैली सनसनी, पुलिस ने शुरू की जांच

नवंबर में इस दिन बंद रहेंगी शराब की दुकानें 
उत्तर प्रदेश सरकार और आबकारी विभाग की पॉलिसी के मुताबिक, धनतेरस पर दुकानें खुली रहेंगी. वहीं, दिवाली के दिन उत्तर प्रदेश में सभी शराब की दुकानें बंद रहेंगी. इसके अलावा नवंबर महीने में 23 नवंबर को कार्तिक एकादशी और 27 नवंबर को गुरु नानक देव जयंती पर भी शराब की दुकानें बंद रहेंगी. 

यह भी पढ़ें: नाबालिग बच्ची की अपहरण कर रेप व हत्या में आजीवन कारावास के दोषी को मिली जमानत.....

Dry Days in November 2023
12 नवंबर : दीपावली (Diwali)
23 नवंबर : कार्तिक एकादशी (Kartik Ekadashi)
27 नवंबर : गुरु नानक जयंती (Guru Nanak Jayanti)

Dry Days in December 2023
25 दिसंबर : क्रिसमस (Christmas)

यह भी पढ़ें: मेयर अशोक तिवारी के निर्देश पर हाउस टैक्स के बड़े बकाएदारों के नाम बड़े अक्षरों में चस्पा किए जाएंगे

ड्राई डे क्यों
आपको बता दें कि ड्राई डे धार्मिक उत्सव, त्‍यौहार या महापुरुषों की जयंती के सम्मान में रखा जाता है. स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस जैसे राष्ट्रीय अवकाश के दिन भी शराबबंदी रहती है. सरकारी और राजकीय अवकाश वाले दिन भी ड्राई डे रहता है. पूरे देश में शराब पीने की न्यूनतम आयु 21 वर्ष है.

Thursday, November 9, 2023

धनतेरस पर काशी में, मां अन्नपूर्णा के दरबार में मिलने वाली यह अठन्नी करती है चमत्कार

वाराणसी: सनातन धर्म के अनुयायी कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को भगवान धन्वन्तरि का जन्मदिन 'धनतेरस,' 'धन्य तेरस' या 'ध्यान तेरस' के रूप में मनाते हैं. इस दिन के महत्व को बताती कई पौराणिक कथाएं और घटनाएं हैं. इसी तरह दुनिया की प्राचीनतम नगरी काशी या वाराणसी से भी जुड़ी एक मान्यता है, जिसके अनुसार काशी में धनतेरस से अन्नकूट तक मां स्वर्णमयी अन्नपूर्णा के दर्शन लाभ प्राप्त करने वाले को धन और अन्न की कमी नहीं होने पाती. इसी दौरान माता अन्नपूर्णा के मंदिर से प्रसाद स्वरुप सिक्का और धान का लावा मिलता है, जिसे तिजोरी और पूजा स्थल पर रखने से पूरे वर्ष धन और अन्न की कमी नहीं होने पाती.


यह भी पढ़ें: सेहत को लेकर सावधान रहें ये 2 जातक, पढ़ें क्या कहता है सभी का राशिफल

अठन्नी पाने के लिए उमड़ पड़ेगी भीड़

स्टील की छोटी सी अठन्नी जो अब प्रचलन से बाहर है उसकी महत्ता समझनी हो तो वाराणसी के श्री काशी विश्वनाथ मंदिर की गली में स्थित मां अन्नपूर्णा के मंदिर में धनतेरस के दिन पहुंचीए. इस दिन देश भर से आए भक्त एक छोटे से पैकेट में मिलने वाले इस छोटी सी अठन्नी और धान के लावा का प्रसाद पाने के लिए घंटों लाइन लगाए में खड़े रहते हैं. इस वर्ष भी माँ अन्नपूर्णा के दर्शन और प्रसाद पाने के लिए दश से चौदह नवंबर तक मंदिर के आगे भक्तों का हुजूम डटा रहेगा. इस लाइन में मां का खजाना पाने के लिए देश के कोने-कोने से आए भक्त नजर आएंगे. खासतौर पर इस लाइन में दक्षिण भारत के दर्शनार्थियों को बड़ी संख्या में देखा जा सकता है.

यह भी पढ़ें: चौबेपुर थाना प्रभारी राजीव सिंह की पैरवी पर आरोपी राम सकल को सजा

पांच दिनों तक लगेगी लम्बी लाइन

भीड़ का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मंदिर से एक किलोमीटर दूर तक भक्तों की कतार दिखाई देती है।. स्वर्णमयी माँ अन्नपूर्णा के दर्शन के लिए यह हालात पांच दिनों तक बने रहेंगे. धनतेरस की पूर्व संध्या पर आधी रात के बाद दर्शन के लिए खोला गया अन्नक्षेत्र इस समय भक्तों के हुजूम से पटा हुआ देखा जा सकता है. परंपरा के अनुसार धनतेरस से अन्नकूट तक ही भक्तों को स्वर्णमयी अन्नपूर्णा के दर्शन प्राप्त हो सकेंगे. यह देश में मां अन्नपूर्णा का यह एकलौता मंदिर है।जहां धनतेरस से अन्नकूट तक मां का खजाना भक्तों को प्रसाद स्वरुप दिया जाता है. मंदिर से प्रसाद के रूप में मिली अठन्नी का सिक्का और धान का लावा को लोग अपने घरों और कम की जगह पर तिजोरी और पूजा स्थल पर रखते हैं. माना जाता है कि माँ अन्नपूर्णा के प्रसाद से भक्तों के घर पूरे वर्ष धन और अन्न की कमी नहीं होती है.

यह भी पढ़ें: इस बार धनतेरस पर करें ये काम, कुबेर जी की कृपा से भर जाएंगे धन के भंडार!

माँ अन्नपूर्णा ने किया था अकाल का कष्ट दूर

माँ अन्नपूर्णा के दरबार से प्रसाद पाने और उससे धन और धान्य की कमी न होने के पीछे भी एक कथा है. माँ अन्नपूर्णा मंदिर के महंत शंकर पुरी बताते हैं कि एक बार काशी में अकाल पड़ा था और लोग भूखों मरने लगे थे. काशीवासियों की यह दशा देखकर भगवान महादेव भी उदिग्न हो उठे. उन्होंने इसी स्थान पर माँ अन्नपूर्णा से काशीवासियों के कल्याण के लिए भिक्षा मांगी थी. मां ने भक्तों के कल्याण के लिए भगवान शंकर को भिक्षा के रूप में अन्न दिया और साथ में वरदान भी दिया कि काशी में रहने वाला कोई भी भक्त कभी रात्रि में भूखा नहीं सोएगा.

यह भी पढ़ें: बुधवार को इस राशि समेत ये 4 जातक रहें सावधान, जानें सभी राशियों का हाल

यह है पौराणिक मान्यता

स्कन्दपुराण के काशी-खंडोक्त में भी इस बात का वर्णन है कि भगवान विश्वेश्वर यानि भगवान शंकर गृहस्थ हैं और माँ भवानी उनकी गृहस्थी चलाती हैं. इसलिए काशीवासियों के कुशल-मंगल का दायित्व भी इन्हीं पर है. 'ब्रह्मवैवर्त्तपुराण' के काशी-रहस्य में बताया गया है कि माँ भवानी ही अन्नपूर्णा हैं. आम दिनों में माँ अन्नपूर्णा माता की आठ परिक्रमा होती है. साथ ही हर महीने के शुक्ल पक्ष की अष्टमी के दिन माँ अन्नपूर्णा के लिए व्रत रख कर उनकी उपासना की जाती है।

Tuesday, November 7, 2023

आधुनिक भारत के बेरोजगारी के दौर में युवा शक्ति ,कौशल और शिक्षा

डॉ राहुल सिंह (निर्देशक राज ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन वाराणसी) की कलम से 

युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिये देश की व्यावसायिक शिक्षा एवं प्रशिक्षण प्रणाली को सशक्त बनाना होगा। कोरोना ने देशवासियों को ऐसे स्थान पर लाकर खड़ा कर दिया है जहां पर अनेक लोगों को कौशल की आवश्यकता है । इस समय हर वर्ग के व्यक्ति को एक सभ्य आजीविका की जरूरत है। कौशल एवं व्यवसायिक शिक्षा की जरूरत केवल वंचित समुदायों के लोगों को ही नहीे बल्कि उन लोगों को भी जरूरत है जो औपचारिक शिक्षा भी प्राप्त नहीं कर पायें। भारत दुनिया में सबसे बड़ी आबादी वाला युवा देश है और यह युवा शक्ति न्यू इंडिया का आधारस्तंभ है। लिहाजा केंद्र सरकार की नीतियों में बजट में, योजनाओं में। युवाओं को लेकर भविष्य के विकास का विजन दिखाई देता है। जैसा कि  अमृत काल के बजट में युवाओं और उनके भविष्य को सबसे ज्यादा महत्व दिया गया है। टेक्नोलॉजी, स्टार्टअप से कैसे  युवाओं की तकदीर बदल रही है। सुधारों के साथ शिक्षा क्षेत्र की कैसे तस्वीर बदल रही है। युवाओं के दम पर दुनिया के सामने कैसे मजबूती से खड़ा हो रहा है भारत।


यह भी पढ़ें: नीतीश ने दिया जनसंख्या नियंत्रण पर दिया गजब का ज्ञान, कहा 'शदियां होती है तो पुरुष पहली रात से ही न...'

युवा किसी भी देश का भविष्य है, आज, भारत विश्व की सबसे बड़ी शक्ति के रूप में उभर रहा है। यहाँ  प्रत्येक तीसरा व्यक्ति युवा है ऐसे में हमें, इस युवा ऊर्जा का प्रयोग सही दिशा में करने के लिए साधन सोचने होगें। युवाओं के लिए शिक्षा, कौशल विकास, रोजगार और स्वरोजगार के अवसर पैदा करने वाली नीतियां और कार्यक्रम मौजूदा वक्त की सबसे बडी आवश्यकता है। युवाओं को सशक्त बनाने की कुंजी, कौशल विकास के साथ है, जब एक युवा के पास आवश्यक कौशल होता है तो वह उसका उपयोग अपनी आजीविका व दूसरों की सहायता करने के लिए कर सकता है। वह आर्थिक रूप से राष्ट्र का भी समर्थन करता है। युवाओं को शिक्षा के साथ कौैशल विकास और उद्यमशीलता से जोड़ना जरूरी है। साथ ही उन्हें स्कूली शिक्षा के साथ  व्यावसायिक शिक्षा भी अति आवश्यक है। कोरोना माहमारी के समय अनेक लोगों को अपने रोजगार, व्यवसाय और नौकरी से हाथ धोना पड़ा इसलिये जरूरी है कि हमारे देश के सभी बच्चों को  कौशल विकास की शिक्षा प्रदान की जाये ताकि  उनमें उद्यमशाीलता का गुण विकसित हो।

यह भी पढ़ें: इन राशि के जातकों के जीवन में आज का दिन 'अमंगलकारी', आएंगी कई समस्याएं, पढ़ें राशिफल

भारत में कौशल विकास में आने वाली सबसे बड़ी समस्या यह है कि यहां लगभग 93 प्रतिशत लोग अकुशल है। यहाँ प्रतिवर्ष लगभग 26.14 मिलियन अकुशल लोग रोजगार के लिए 15-45 उम्र समूह में सम्मिलित हो रहे है। अतः 7 वर्ष में लगभग 104.62 मिलियन अकुशल तथा पहले से कृषि एवं गैर कृषि में लगे हुए 298 मिलियन लोगो को 2022 तक कौशल युक्त करना एक बडी चुनौती है। इसके अतिरिक्त ऐसे बेरोजगार लोगो को शिक्षित करना जिन्होनें अपनी स्कूली शिक्षा प्राप्त नही की है या बीच में छोड़ दी है,  भी एक बडी समस्या है। महिलाओं की घटती भागीदारी भी एक गंम्भीर समस्या है। 2011 की जनगणना के आँकडों के अनुसार महिलाओं की ग्रामीण क्षेत्रों में रोगजार में भागीदारी 33.3 प्रतिशत से घटकर 26.5 प्रतिशत तथा शहरी क्षेत्रों में भागीदारी 17.8 प्रतिशत से घटकर 15.5 प्रतिशत रह गई है। इसके अलावा सूक्ष्म, लघु एवं औद्योगिक सेक्टरों में भी अकुशल कार्यबल आर्थिक विकास के लिए बाधक बन रहा है जिसके परिणाम स्वरूप उत्पादकता प्रभावित हो रही है तथा बडी संख्या में बेरोजगारी की दर बढ़ती जा रही है। अतः युवाओं के लिए रोजगार उपलब्ध कराना भी एक बहुत बडी चुनौती है। इस दृष्टिकोण से हमें उद्यमिता विकास पर भी ध्यान देने की जरूरत है। उद्यमिता में भारत की स्थिति 143 देशों में 76वें स्थान पर है। भारत में प्रति 1000 वर्किंग लोगों पर 0.09 कम्पनी रजिस्टर्ड है, जो कि जी-20 देशों में सबसे कम है।

यह भी पढ़ें: मऊ कोचिंग डिपो में संरक्षा विभाग एवं एन.डी.आर.एफ.टीम द्वारा फुल स्केल मॉकड्रील का हुआ संयुक्त अभ्यास

कौशल विकास न केवल आजीविका का साधन है बल्कि सामान्य दिनचर्या में स्वयं के जीवंत और ऊर्जावान महसूस करने का एक विशेष माध्यम भी है। अतः युवा शक्ति को शिक्षा, कौशल विकास और प्रशिक्षण द्वारा बेहतर मानव संसाधन के रूप में विकसित करने से न केवल गरीबी, बेरोजगारी और सामाजिक बुराईयो इत्यादि का समाधान मिल सकता है अपितु वे राष्ट्र के समग्र विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे सकते है। आज यह आवश्यक हो गया है, कि युवाओं की ऊर्जा को उध्र्वगायी बनाया जाये, शिक्षा को रोजगारोन्मुखी बनाया जाये, युवाओं में कौशल और तकनीकी क्षमता विकसित की जाए, जिससे भारत उभरती अर्थव्यवस्था की मुख्य चुनौतियों से निपटने में सफल हो सके। वोकेशनल ट्रेनिंग के माध्यम से युवाओं को आज के अनुकूल कौशल का निर्माण करने वाला प्रशिक्षण देना होगा तभी कौशल विकास सफल हो सकता है। कौशल विकास एक बड़ी नैतिकता और जवाबदेही का कार्य है जिसके माध्यम से युवाओं को उद्यमशील बनाया जा सकता है। स्किल्ड युवा निश्चित रूप से कौशल युक्त भारत का निर्माण कर सकता है। कोरोना के समय में भारत में बेरोजगारी एक बड़ी समस्या बनकर उभरी है। इस समस्या को काफी हद तक कौशल विकास को विकसित कर कम किया जा सकता है, भारत में कौशल विकास तथा बेरोजगारी की समस्या के मूल में स्कूली स्तर पर व्यावसायिक शिक्षा की अनुपस्थिति है इसलिये स्कूली स्तर पर व्यावसायिक शिक्षा को शामिल करना बहुत जरूरी है।

यह भी पढ़ें: कुछ करने भी दो यारो!

युवाओं को सशक्त बनाने की कुंजी, कौशल विकास के साथ है, जब एक युवा के पास आवश्यक कौशल होता है तो वह उसका उपयोग अपनी आजीविका व दूसरों की सहायता करने के लिए कर सकता है। वह आर्थिक रूप से राष्ट्र का भी समर्थन करता है। कौशल विकास न केवल आजीविका का साधन है बल्कि सामान्य दिनचर्या में स्वयं के जीवंत और ऊर्जावान महसूस करने का एक विशेष माध्यम भी है। अतः युवा शक्ति को शिक्षा, कौशल विकास और प्रशिक्षण द्वारा बेहतर मानव संसाधन के रूप में विकसित करने से न केवल गरीबी, बेरोजगारी और सामाजिक बुराईयां इत्यादि का समाधान मिल सकता है अपितु वे राष्ट्र के समग्र विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे सकते है। वर्ष 2014 की एक सरकारी रिपोर्ट के अनुसार, भारत को भली भांति प्रशिक्षित कुशल श्रमिकों की भारी कमी का भी सामना करना पडा है तालिका 1.0 के माध्यम से यह समझा जा सकता है कि यद्यपि भारत युवाओं का देश है परन्तु कुल कार्यबल में से केवल 2.3 प्रतिशत ही औपचारिक रूप से प्रशिक्षित है। जबकि अन्य विकसित देशों में प्रतिशत काफी अधिक है।

यह भी पढ़ें: वीडीए उपाध्यक्ष पुलकित गर्ग ने रोप-वे परियोजना के कार्य का किया निरीक्षण, शासन के निर्देशानुसार कार्य करने के दिये निर्देश  

Monday, November 6, 2023

पीएम मोदी अपने क्षेत्र के कुपोषित नौनिहालों को बटवाएगें पुष्टाहार

वाराणसी: काशी के सांसद एवं देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने संसदीय क्षेत्र में कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य की चिंता करते हुए उनके पुष्टाहार की व्यवस्था की है। यह पुष्टाहार प्रत्येक कुपोषित नौनिहालों तक पहुंच जाए इसका दायित्व महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय ने पदाधिकारियों को सौंपा।


यह भी पढ़ें: फाइलेरिया के 20 रोगियों को प्रदान की गई एमएमडीपी किट

महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय के अनुसार 990 आंगनवाड़ी केंद्रों के 4000 कुपोषित बच्चों को पुष्टाहार वितरण किया जाएगा। महानगर के सभी 100 वार्डों में पुष्टाहार वितरण करने के लिए महानगर पदाधिकारी के नेतृत्व में  26 टीमें बनी है, जो आंगनवाड़ी मुख्य सेविका के साथ सामंजस्य कर 7 नवंबर से केंद्रों पर पुष्टाहार वितरण प्रारंभ कराएगा। इस निमित्त महानगर में महानगर महामंत्री अशोक पटेल, उपाध्यक्ष मधुकर चित्रांश एवं साधना वेदांती तथा मंत्री डॉ अनुपम गुप्ता संयोजक बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें: ‘सांस’ कार्यक्रम - नवजात शिशुओं व बच्चों को निमोनिया से दिलाएगा छुटकारा

महानगर मीडिया प्रभारी किशोर सेठ के अनुसार सोमवार को प्रत्येक आंगनबाड़ी केंद्रों पर मुख्य सेविका तथा कार्यकत्रियों के साथ पदाधिकारियों ने बैठक की। बैठकों में महानगर पदाधिकारी, कार्यसमिति सदस्य, महिला मोर्चा पदाधिकारी, मंडल अध्यक्ष, भाजपा पार्षद, मुख्य सेविका आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: इन राशियों के लिए ऑफिस में दिन रहेगा तनाव भरा, पढ़ें सभी जातकों का हाल

बैठकों में मुख्य रूप से राकेश शर्मा, आलोक श्रीवास्तव, एड अशोक कुमार, अभिषेक मिश्रा, मीडिया प्रभारी किशोर सेठ, कुसुम सिंह पटेल, डॉ रचना अग्रवाल, मधुप सिंह, हरि केसरी, किशन कनौजिया, इंदु भूषण गुप्त, दिलीप साहनी, रवि राय, महेंद्र सिंह गौतम, मंडल अध्यक्ष अजीत सिंह, नलिन नयन मिश्र, कमलेश सोनकर, रजत जायसवाल, पार्षद सिंधु सोनकर, राजेश यादव, विवेक कुशवाहा, संतोष सैनी, हुमा बानो, मीरा गुप्ता, कन्हैया शर्मा, मंजू मौर्या सहित सभी मंडल अध्यक्ष, भाजपा पार्षद व महिला मोर्चा पदाधिकारी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें: लक्सा पुलिस ने कुछ घण्टो में चोरी के मोबाइल के साथ चोर को किया गिरफ्तार    

भाजपा की जुमलेबाज़ी में न फंसने की अपील की किसान सभा ने, पूछा -- आदिवासियों के मुद्दों पर चुप क्यों है भाजपा?

रायपुर: अखिल भारतीय किसान सभा से संबद्ध छत्तीसगढ़ किसान सभा ने भाजपा के घोषणापत्र 'मोदी की गारंटी' को "जुमलाबाजी" करार देते हुए आम जनता से इसमें न फंसने और पूरे प्रदेश में भाजपा की हार सुनिश्चित करते हुए एक धर्मनिरपेक्ष सरकार के गठन के लिए मतदान करने की अपील की है। किसान सभा ने कहा है कि स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश के आधार पर सकल लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य न देने वाली,  किसान विरोधी कृषि कानून तथा मजदूर विरोधी श्रम संहिता लाने वाली और सलवा जुडूम के जरिए आदिवासियों पर कहर ढाने वाली भाजपा की किसी भी गारंटी पर अब आम जनता कोई भरोसा नहीं कर सकती।


यह भी पढ़ें: लक्सा पुलिस ने कुछ घण्टो में चोरी के मोबाइल के साथ चोर को किया गिरफ्तार

आज यहां जारी एक बयान में छत्तीसगढ़ किसान सभा के संयोजक संजय पराते ने कहा कि केंद्र में भाजपा की मोदी सरकार ने पिछले नौ सालों में केवल कॉर्पोरेटों का हित साधा है। इनकी नीतियों से आम जनता की आय में गिरावट आई है, बेरोजगारी और गरीबी बढ़ी है, महंगाई आसमान छू रही है। देश का संघीय ढांचा, धर्मनिरपेक्षता, खतरे में पड़ी है और नफरत की राजनीति फली-फूली है।

किसान सभा नेता ने कहा कि छत्तीसगढ़ के मजदूर-किसानों, दलित-आदिवासियों और महिलाओं ने भी प्रदेश में भाजपा राज के कुशासन को भुगता है। सत्ता में रहते हुए और पिछले पांच सालों से विपक्ष में रहते हुए भाजपा ने केवल सांप्रदायिक ध्रुवीकरण किया है और उसने आम जनता की किसी भी समस्या पर कोई संघर्ष नहीं किया। उन्होंने कहा कि चुनाव के समय ही अब भाजपा को जनता की याद क्यों आ रही है और ऐसी 'गारंटियों का पिटारा' क्यों खोल रही है, जिसे वह अब तक ठुकराती आई है? भाजपा बताएं कि अपने घोषणापत्र के वादों को वह किस तरह और कितने समय में पूरा करेगी?

यह भी पढ़ें: चितईपुर पुलिस ने चोरी की मोटर साइकिल के साथ चोर आकाश पटेल को किया गिरफ्तार

उन्होंने कहा कि जिस भाजपा ने सुप्रीम कोर्ट में जाकर किसानों को सी-2 लागत का डेढ़ गुना देने से इंकार किया है, वह आज किसानों से 21 क्विंटल धान 3100 रूपये की दर से खरीदने की हास्यास्पद गारंटी दे रही है। जिसने अंधाधुंध तरीके से गैस और पेट्रोल-डीजल के भाव बढ़ाए, वह आज इन्हें सस्ता बेचने की 'जुमलेबाजी ' कर रही है। धान से लेकर नान घोटाले तक जिस भाजपा का कार्यकाल कुख्यात रहा है और दूसरे दलों के भ्रष्टाचारियों के लिए जो दल शरणस्थली बना हुआ है, वह भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश देने का हास्यास्पद दावा कर रही है। 

किसान सभा नेता पराते ने कहा कि यह केवल संयोग नहीं है कि जल, जंगल, जमीन, खनिज और प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा और इसे कॉर्पोरेट लूट से बचाने के सवाल पर तथा आदिवासियों के संवैधानिक अधिकारों और मानवाधिकारों के मुद्दे पर भाजपा चुप है, क्योंकि राज्य प्रायोजित सलवा जुडूम के जरिए आदिवासियों पर उसने जो अत्याचार किए हैं, उसके कारण इन चुनावों में भी भाजपा प्रत्याशी बस्तर के अंदरूनी इलाकों में नहीं जा पा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: विकास खण्ड चिरईगांव में प्रधान संघ कार्यालय का ब्लाक प्रमुख ने किया उद्घाटन, प्रधानों ने जताया आभार

Wednesday, November 1, 2023

राज ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन के 13वें स्थापना दिवस का दो दिवसीय कार्यक्रम का भाव आयोजन

वाराणसी: दिनांक 31 अक्टूबर 2023 को राज फाऊंडेशन ट्रस्ट द्वारा संचालित राज ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन बाबतपुर वाराणसी में राज ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन के 13वें स्थापना दिवस के अंतिम दिन सरदार वल्लभभाई पटेल के जन्मदिन को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया गया इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रोफेसर आनंद कुमार त्यागी( कुलपति महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी) व विशिष्ट अतिथि सुरेंद्र सिंह पटेल (पूर्व मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार) डॉक्टर सुनील कुमार पटेल (विधायक रोहनिया वाराणसी) नागेश्वर सिंह (प्रबंधक घनश्याम पीजी कॉलेज वाराणसी) अवधेश सिंह (पूर्व प्राचार्य U.P कॉलेज) एल.एन यादव (समाजसेवी )विवेक कुमार सिंह सचिव राज ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के चेयरमैन राजदेव सिंह( पूर्व एम.एल.सी) ने किया।



कार्यक्रम का प्रारंभ मां सरस्वती की पूजा के साथ किया गया व राष्ट्रीय एकता दिवस के उपलक्ष्य में सरदार वल्लभ भाई पटेल के फोटो पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलन साथ किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रोफेसर आनंद कुमार त्यागी ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज हम लोग राष्ट्रीय चरित्र निर्माण में पीछे हैं और सबसे पहले जरूरत है ज्ञान और ज्ञान के साथ-साथ अनुशासित रहने की भी जरूरत है और उन्होंने तीन महत्वपूर्ण बातों का जिक्र किया जिसको जिसको अनुसरण करके हर छात्राओं के अंदर बदलाव लाया जा सकता है 1-अपने मन में ज्ञान का नवाचार जागृत करना चाहिए 2- ज्ञान का संचयन करना या एकत्रित करना चाहिए 3- ज्ञान का विस्तारण या प्रसारण करना चाहिए। 


तथा संक्षिप्त शब्दों में कहा कि मानव को ज्ञान का विस्तार के साथ-साथ उनका सुरक्षा का भी ध्यान रखने की जरूरत है जिसका उपयोग सही कार्यों में किया जाए जिससे मानव समाज और आने वाली पीढ़ी को एक अच्छा संदेश मिले।
वह कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि सुरेंद्र सिंह पटेल (पूर्व मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार) ने कहा के आज आधुनिक युग में छात्र एवं छात्राओं को समय के साथ चलने की जरूरत है जिससे वह किसी से पीछे ना रह सके तथा अपनी जिम्मेदारियों का आसानी से निर्वहन कर सके।

अन्य विशिष्ट अतिथि डॉ सुनील कुमार पटेल (विधायक रोहनिया वाराणसी )ने संबोधित करते हुए कहा कि छात्र-छात्राओं के अंदर अनुशासन का होना जरूरी है जिससे उनके अंदर व्यक्तित्व का विकास होता है और उनके अंदर धैर्य पैदा होती है। उन विशेषता अतिथि नागेश्वर सिंह प्रबंधक घनश्याम पीजी कॉलेज वाराणसी में कहा कि आज के युग में व्यक्तित्व तभी आगे बढ़ सकता है जब एक दूसरे के बीच तालमेल हो और विपरीत परिस्थिति में यही व्यक्ति को । आगे ले जाता है
विशिष्ट अतिथि अवधेश सिंह ने कहा कि छात्राओं की उत्सुकता और कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने पर कॉलेज का माहौल एक अनुशासित व्यवस्था के साथ चल रहा है जिसे देखकर खुशी और महसूस हो रही है।


राष्ट्रीय एकता दिवस की इस कार्यक्रम को संचालित राज ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन के पूर्व डायरेक्टर राहुल मिश्रा ने किया जिसमें उन्होंने सरदार वल्लभभाई पटेल के व्यक्तित्व को अपने मुखारविंद से छात्राओं को संबोधित किया तथा बताएं कि सरदार वल्लभभाई पटेल के व्यक्तित्व के द्वारा समाज और देश के प्रति एक दिन हिस्से किस तरीके से किया जा सकता है और इस कार्यक्रम को आगे प्रसारित करते हुए कहा कि आज के दिन हमें एक शपथ लेना चाहिए कि हमें अपने समाज और देश के प्रति संगठित होकर हर स्तर पर सहयोग के साथ कार्य करने की जरूरत है।

कार्यक्रम के समापन में विभिन्न इंटर कॉलेज से आए हुए छात्र-छात्राओं को मान्य कुलपति आनंद कुमार त्यागी द्वारा पुरस्कृत किया गया तथा राज ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन के विभिन्न विभाग के टॉपर व टॉप 3 छात्र-छात्राओं को माननीय कुलपति के द्वारा मेडल और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया
तथा कार्यक्रम का समर्पण राज ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन के निदेशक डॉ राहुल सिंह ने सभी विभाग के विभाग अध्यक्ष व अध्यापक अध्यापको को धन्यवाद देते हुए किया।


इस शुभ अवसर पर संस्था के अध्यक्ष राजदेव सिंह प्रबंधक, विवेक कुमार सिंह तथा संस्था के निदेशक डॉ राहुल सिंह जी तथा संस्था के पूर्व निदेशक राहुल मिश्रा व प्रचाय् राज कॉलेज फार्मेसी डॉ विशाल कुमार अग्रहरी के द्वारा कॉलेज में किया गया संस्था के कमजोर और मध्यम तथा आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के बीच को मिष्ठान व शिक्षण सामग्री भेंट किया कार्यक्रम का संचालन संस्था के प्रशासनिक अधिकारी विवेक प्रकाश दुबे ने किया उक्त कार्यक्रम में प्रियंका सिंह ट्रस्टी सदस्य अनिल पांडे दीपक पांडे विवेक सिंह डॉक्टर सुमित प्रताप सिंह अमित तिवारी संस्था के उन सभी अध्यापक व अध्यापिका तथा कर्मचारी उपस्थित रहे।

पति के साथ करवा चौथ की शॉपिंग कर बीवी हुई जीजा संग फरार

मेरठ: यूपी के मेरठ जनपद में अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यहां पत्नी की बेवफाई से हर कोई हैरान है. पति ने जानकारी देते हुए बताया कि बीवी ने मेरे से ही करवा चौथ की शॉपिंग करवाई. करवा चौथ के लिए सभी प्रकार का जरूरी सामान मैंने ही खरीदा.


यह भी पढ़ें: 
पेंशन के लिए ससुर को बनाया बंधक...बहू के खिलाफ FIR, पुलिस ने ताला तोड़कर निकाला इलाज के दौरान मौत

हर साल हम दोनों इसी प्रकार करवा चौथ की शॉपिंग करते थे. हम दोनों एक दूसरे के लिए करवा चौथ का व्रत भी रखते थे. आज मंगलवार को करवा चौथ के पहले दिन पत्नी अपने जीजा के साथ फरार हो गई. 

यह भी पढ़ें: बहुत फायदे में रहेंगे कुंभ समेत इस राशि जातक, पढ़ें मेष से लेकर मीन तक के लिए कैसा रहेगा मंगलवार

 

Friday, October 27, 2023

वि.ख. चिरईगांव बीडीओ ने किया क्षेत्र में हो रहे विकास कार्यों की समीक्षा

वाराणसी: दिनांक 26 अक्टूबर को खण्ड विकास अधिकारी राजेश बहादुर सिंह ने विकास खण्ड चिरईगांव में हो रहे विकास कार्यों जैसे प्रधानमंत्री आवास, मुख्यमंत्री आवास, मनरेगा, अमृत सरोवर, रेन वाटर हार्वेस्टिंग, एनआरएलएम के साथ साथ पंचायती राज में हो रहे विकास कार्य जैसे RRC, ग्रामीण पुस्तकालय, व्यक्तिगत शौचालय आदि की समीक्षा किया. 


यह भी पढ़ें: कुपोषित क्षय रोगियों की होगी पहचान, गोद लेकर किया जाएगा स्वस्थ

खण्ड विकास अधिकारी राजेश बहादुर सिंह ने हमारे संवाददाता को बताया कि अब से हर वृहस्पतिवार को विकास खण्ड चिरईगांव में हो रहे सभी विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की जाएगी. इस बैठक में सभी ADO's के साथ साथ सभी सचिवों और ग्राम रोजगार सेवकों को आना अनिवार्य है.

यह भी पढ़ें: इन जातकों के लिए ऑफिस में रहेगा तनाव, लेने-देन से बचें, जानें कैसा रहेगा सभी के लिए शुक्रवार

खण्ड विकास अधिकारी ने बताया कि ग्राम सभाओं से लगातार शिकायते आ रही थी विकास कार्यों को लेकर इसके मद्देनजर यह समीक्षा बैठक की जा रही है. उन्होंने यह भी कहा कि इस तरह से समीक्षा करने से कम से कम क्षेत्र की जनता की समस्या है उसका हल निकल कर तुरंत ख़त्म किया जायेगा. 

यह भी पढ़ें: एंटी करप्शन टीम ने चकबंदी लेखपाल को रिश्वत लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तार

खण्ड विकास अधिकारी राजेश बहादुर सिंह ने शख्त लहजेमे चेतावनी देते हुए यह कहा कि अगर किसी कार्य में कोई अधिकारी या कर्मचारी आना कानी करता है तो उसके खिलाफ विभागीय कार्यवाही करने में भी देरी नही होगी.     

यह भी पढ़ें: चाय से ज्यादा केतली गर्म को चरितार्थ करते संविदाकर्मी आनंद, एडीओ के आदेशों को रखते है ठेंगे पर 

Thursday, October 26, 2023

प्रधानमंत्री को मिला रामलला की प्राण प्रतिष्ठा करने का न्योता, 22 जनवरी 2024 की तारीख तय

अयोध्या: रामलला के प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को लेकर बड़ी जानकारी सामने आ गई है। श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने राम लला की प्राण प्रतिष्ठा की तिथि निर्धारण की पुष्टि की है। ट्रस्ट के महामंत्री के अनुसार, रामलला प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव 22 जनवरी 2024 को होगा, जिसके लिए पीएम नरेन्द्र मोदी को आमंत्रित किया गया है।


यह भी पढ़ें: इन राशियों पर बरसेगी विष्णु जी की कृपा, पढ़ें मेष से लेकर मीन तक का हाल

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने बुधवार की शाम पीएम नरेन्द्र मोदी से नई दिल्ली में भेंट कर उन्हें रामजन्मभूमि पर नवनिर्मित मंदिर में रामलला के विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा के लिए औपचारिक रूप से आमंत्रित किया। पीएम से मिलने वाले ट्रस्ट के प्रतिनिधिमंडल में महासचिव चंपतराय, मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र, कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंददेव गिरि के अलावा ट्रस्ट के सदस्य उडुप्पी पीठाधीश्वर स्वामी विश्वेष प्रसन्नतीर्थ शामिल रहे।

यह भी पढ़ें: सरकारी संकल्प यात्रा या मोदी प्रचार यात्रा?

श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने अपने बयान में कहा, ‘श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के ट्रस्टी तेजावर मठ के पूज्य स्वामी विश्वप्रसन्नतीर्थ जी महाराज जगतगुरु मध्वाचार्य, ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष पूना निवासी पूज्य स्वामी गोविंद देव जी महाराज, रामजन्मभूमि मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष श्रीमान नृपेंद्र मिश्रा जी के साथ मैं स्वयं आज माननीय प्रधानमंत्री से मिलने गए थे।

यह भी पढ़ें: ईएमआरआई ग्रीन हेल्थ सर्विस 102, 108 जोनल वर्क शॉप के अधिकारियों ने कर्मचारियों को बाटी मिठाइयां

महामंत्री ने कहा, ‘हमने उन्हें अयोध्या 22 जनवरी को पधारकर नए बन रहे मंदिर के गर्भगृह में भगवान राम के नूतन विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा अपने कर कमलों से करने का निवेदन किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने हमारा निवेदन स्वीकार किया है, यह प्रसन्नता की बात है। वे प्राण प्रतिष्ठा के महोत्सव के अवसर पर उपस्थित रहेंगे।


यह भी पढ़ें: पिटाई के बाद भी नहीं मिली टीआरपी, जाना पड़ा जेल देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी करने वाला यूट्यूबर पहले भी बना चुका है विवादित वीडियो

 

वहीं, पीएम नरेन्द्र मोदी ने भी अपने X हैंडल पर भी जानकारी साझा की है। पीएम मोदी ने रामलला के प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव का साक्षी बनने को सौभाग्य बताया है। गौरतलब है कि श्रीराम नगरी में द‍िव्‍य और भव्‍य रामलला के मंदिर निर्माण का कार्य तेजी से हो रहा है। जनवरी 2024 में होने वाले प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव की तैयारियां भी तेजी से चल रही है।

यह भी पढ़ें: इन 2 राशियों के जातक बिजनेस मामलों में रहें सावधान, मिल सकता है धोखा, पढ़ें कैसा रहेगा बुधवार

Friday, October 13, 2023

यात्रीगण कृपया ध्यान दें, यात्रियों की सुविधा के लिए गोदान एक्सप्रेस सलेमपुर स्टेशन पर रुकेगी

वाराणसी: सलेमपुर की यात्री जनता की माँग एवं यात्रियों  की सुविधा हेतु रेल प्रशासन द्वारा गाड़ी सं० 11059/11060  लोकमान्य तिलक टर्मिनल्स - छपरा - लोकमान्य तिलक टर्मिनल्स एक्सप्रेस को वाराणसी-  भटनी रेल खण्ड पर पड़ने वाले सलेमपुर रेलवे स्टेशन पर दो मिनट का प्रयोगिक ठहराव प्रदान किया गया है। इसी क्रम में 13 अक्टूबर, 2023 को सलेमपुर रेलवे स्टेशन पर आयोजित एक समारोह से इस गाड़ी के ठहराव का शुभारंभ सलेमपुर के सांसद रविन्दर कुशवाहा एवं राज्य मंत्री ग्राम्य विकास व समग्र ग्राम्य विकास तथा ग्रामीण अभियंत्रण विजय लक्ष्मी गौतम द्वारा गाड़ी सं 11059 लोकमान्य तिलक टर्मिनल्स - छपरा गोदान एक्सप्रेस को 18:07 बजे हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। 


यह भी पढ़ें: छुट्टियों में भी खुलेंगे जोन कार्यालय, जमा होगा हाउस टैक्स, हाउस टैक्स में छूट पाने का आखिरी मौका

इस अवसर पर आयोजित उदघाटन समारोह में सांसद रविन्दर कुशवाहा ने अपने सम्बोधन में कहा कि भारतीय रेलवे किफायती यातायात का प्रमुख साधन होने कारण आम जनता में बेहत लोकप्रिय है, यही कारण है कि भारतीय रेलवे से करोड़ों यात्री प्रतिदिन यात्रा करते है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय रेल का बहुमुखी विकास हो रहा है और यात्रियों को विश्व स्तरीय यात्रा सुविधा मिल रही है। सलेमपुर रेलवे स्टेशन पर लोकमान्य तिलक टर्मिनल-छपरा -लोकमान्य तिलक टर्मिनल गोदान एक्सप्रेस के ठहराव की स्वीकृति प्रदान किये जाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव एवं रेलवे प्रशासन के प्रति आभार व्यक्त किया।   

उन्होंने कहा कि इस गाड़ी का सलेमपुर स्टेशन पर ठहराव हो जाने से बरहज बाजार समेत सलेमपुर परिक्षेत्र में निवास करने वाली जनता, अध्ययन करने वाले छात्र/छात्राओं को स्कूल, कॉलेज तथा कोचिंग करने में काफी सुविधा होगी, दूसरे जिलों में नौकरी एवं रोजगार हेतु जाने वालों तथा गंभीर बीमारियों से जूझ रहे मरीजो को भी इलाज के लिए आने जाने में बहुत सुविधा होगी। 

यह भी पढ़ें: दशहरा से पहले नही हुई घाटों की सफाई तो होगी कार्यवाही

इस अवसर पर सांसद ने क्षेत्रीय जनता से अपील की अधिक से अधिक यात्री अपना टिकट लेकर यात्रा करें जिससे इस स्टेशन पर इस गाड़ी को स्थाई ठहराव मिल सके। सलेमपुर स्टेशन पर गोदान एक्सप्रेस के ठहराव से न केवल सलेमपुर के निवासियों को सुविधा होगी बल्कि इससे सटे हुए जिले के हजारों लोगों समेत आस-पास की जनता को मुंबई, नासिक, भुसावल, इटारसी, जबलपुर, मैहर, प्रयागराज, जौनपुर, शाहगंज, आजमगढ़, मऊ, भटनी, सीवान एवं छपरा तक सीधी यात्रा का प्रत्यक्ष लाभ मिलेगा साथ ही स्थानीय यात्रियों को मुंबई आने-जाने में बहुत सुविधा होगी विशेष रूप से रोजगार, इलाज एवं शिक्षा के लिए यात्रा करने वालों को इसका बहुत लाभ मिलेगा।

इसके पूर्व सांसद के स्वागत संबोधन में विधायक सलेमपुर एवं राज्य मंत्री ग्राम्य विकास व समग्र ग्राम्य विकास तथा ग्रामीण अभियंत्रण विजय लक्ष्मी गौतम ने क्षेत्रीय स्टेशनों पर रेलवे द्वारा किये गए विकास कार्यों, यात्री सुविधाओं के उन्नयन एवं महत्वपूर्ण गाड़ियों के ठहराव के लिए सांसद के प्रयासों समेत रेल प्रशासन का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि गोदान एक्सप्रेस के ठहराव सलेमपुर की जनता को मुख्य धारा से जोड़ने का कार्य करेगा और इससे आम जनता को हर क्षेत्र में बहुत लाभ होगा साथ ही साथ रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

यह भी पढ़ें: महापौर अशोक तिवारी ने सारनाथ जोन में जन चौपाल लगाई

इसके पूर्व अतिथियों का स्वागत करते हुए मुख्य परियोजना प्रबंधक प्रबंधक (गतिशक्ति) कौशलेश सिंह ने बताया कि पूर्वोत्तर रेलवे का वाराणसी मंडल यात्री प्रधान मंडल है जो अपने यात्रियों को उन्नत सुख सुविधाएँ उपलब्ध कराने हेतु लगातार प्रयासरत है। इसके लिए सलेमपुर स्टेशन पर विभिन्न विकास कार्य कराए गये हैं। सलेमपुर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों हेतु मूलभूत यात्री सुविधाएँ उपलब्ध हैं। इसके साथ ही स्टेशन पर विशेष विकास योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए इसे अमृत भारत स्टेशन पुनर्विकास योजना में शामिल करते हुए 18.61 करोड़ की लागत से आधुनिक सुविधाओं प्रदान करते हुए आकर्षक स्वरूप देने का कार्य प्रगतिशील है। 

इसी क्रम में सलेमपुर के यात्रियों की माँग एवं सांसद रविन्दर कुशवाहा के प्रयासों के परिणामस्वरूप रेलवे प्रशासन द्वारा यात्री जनता की सुविधा हेतु गाड़ी सं० 11059  लोकमान्य तिलक टर्मिनल -छपरा गोदान एक्सप्रेस गाड़ी सलेमपुर स्टेशन पर 18:05 बजे पहुंचकर दो मिनट का ठहराव लेकर 18:07 बजे छपरा के लिए प्रस्थान करेगी तथा गाड़ी संख्या 11060 छपरा -लोकमान्य तिलक टर्मिनल गोदान एक्सप्रेस सलेमपुर स्टेशन पर सुबह 08:12 मिनट पर पहुँचकर दो मिनट का ठहराव ले कर 08:14 बजे लोकमान्य तिलक टर्मिनल के लिए प्रस्थान करेगी।

यह भी पढ़ें: अवैध निर्माण पर चला वाराणसी विकास प्राधिकरण का पिला पंजा

इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष/देवरिया पंडित गिरीश चन्द्र तिवारी, मुख्य परियोजना प्रबंधक कौशलेश सिंह, मंडलीय अधिकारी एवं भारी संख्या में स्थानीय जनता उपस्थित थी। कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन जनसम्पर्क अधिकारी अशोक कुमार द्वारा किया गया।

Thursday, October 12, 2023

तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय रेल उपकरण प्रदर्शनी 2023 में बनारस रेल इंजन कारखाना द्वारा प्रदर्शित रनिंग लोको मॉडल बना आकर्षण का केंद्र

वाराणसी: भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा अंतर्राष्ट्रीय रेल उपकरण प्रदर्शनी 12 से 14 अक्टूबर 23 तक प्रगति मैदान नई दिल्ली में लगाई गई है। इस आयोजन से उद्योग और भारतीय रेलवे के प्रमुख हितधारकों की भागीदारी में मुख्य रूप से जर्मनी, जापान, रूस और यूके कंट्री पवेलियन के साथ 11 देशों के 300 से अधिक प्रदर्शक नई दिल्ली के प्रगति मैदान में नए प्रदर्शनी केंद्र के पांच हॉलों में फैले लगभग 30,000 वर्गमीटर के प्रदर्शनी क्षेत्र को कवर करते हुए नवीनतम प्रौद्योगिकियों और सेवाओं का प्रदर्शन कर रहे हैं।  


यह भी पढ़ें: डेंगू के नाम पर निजी अस्पतालों में हो रही लूट की जांच एसीएमओ और डिप्टी सीएमओ करेंगे

भारतीय रेलवे ने अब तक का सबसे बड़ा मंडप स्थापित किया है, जो इस क्षेत्र में भारत की ताकत, क्षमताओं और इसके विस्तार और आधुनिकीकरण योजनाओं के लिए भारतीय रेलवे की भविष्य की आवश्यकताओं को प्रदर्शित कर रहा है।  तीन दिवसीय कार्यक्रम में समवर्ती अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन, बैठकें और खरीदार-विक्रेता बैठकें शामिल हैं। जो सभी हितधारकों के लिए रेल परिवहन क्षेत्र में तकनीकी प्रगति, हितधारकों के साथ नेटवर्क और एक ही मंच के तहत ज्ञान साझा करने का अवसर दे रहा है।

यह भी पढ़ें: महिला मोर्चा ने शुरू किया वरिष्ठ कार्यकर्ता संपर्क सम्मान अभियान

 बनारस रेल इंजन कारखाना मण्डप को मुख्य गुणता आशवासन प्रबन्धक प्रवीण कुमार की देख रेख में लगाया गया है। जहां बरेका सभी उत्पादन इकाइयों और क्षेत्रीय रेलवे के साथ भारतीय रेलवे की ताकत क्षमताओं और भविष्य की आवश्यकताओं को प्रदर्शित करते हुए इस प्रदर्शनी में भाग ले रहा है।बरेका के जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने रेल प्रदर्शनी से सम्बंधित थीम व अन्य प्रदर्शन सामग्री का विस्तृत जानकारी उपस्थित आगंतुको के समक्ष प्रस्तुत किया। जिसमे विभिन्न  प्रदर्शित रेल लोको मॉडल तथा  बरेका की रेल इंजन निर्यात क्षमता, वर्तमान उपलब्धियां को इंफोग्राफिक के माध्यम से  दर्शाया गया है। 

यह भी पढ़ें: कैसा रहेगा इन सभी राशियों के लिए आज का दिन, जानिए दैनिक राशिफल

इस प्रदर्शनी में मुख्यत: बनारस रेल इंजन कारखाना द्वारा निर्मित किए जा रहे लोको संबंधित डिस्‍प्‍ले पोस्‍टर्स, पम्‍पलेट के माध्यम से आगंतुकों को अवगत कराते हुए विभिन्न प्रकार के डीजल एवं विद्युत रेल लोको मॉडल को  सुंदरतम ढंग से दर्शाया गया है, जो आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। साथ ही स्क्रैप से बनाए गए मॉडल आगंतुकों का मन मोह रहे है। डबल्यू ए पी 7, डबल्यू ए जी 9 विद्युत लोको का वर्किंग मॉडल बच्चों के साथ दर्शकों में आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। इस प्रदर्शनी मे बरेका मंडप में लगे हुए लोको मॉडलों के साथ आगंतुको द्वारा सेल्फ़ी लेने का क्रेज देखा गया। बरेका मंडप में मुख्य यांत्रिक इंजीनियर,प्लानिंग पूर्व रेलवे मनीष कुमार गुप्ता, मुख्य अभिकल्प इंजीनियर, डीजल आर आर प्रसाद, मुख्य विद्युत् इंजीनियर, लोको अरूण शर्मा मुख्य रूप से उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल की सभा में गरजे स्वामी जितेन्द्रानंद, कहा हमास के समर्थक हैं भारत विरोधी

Tuesday, October 10, 2023

वर्ल्ड कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट फारुख नगर, गुड़गांव में आयोजित फ्रेशर पार्टी 2023 में भारत के मशहूर और बॉलीवुड के लोकप्रिय डीजे अकील ने मचाया धमाल

गुरुग्राम: शिक्षा के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बना चुके वर्ल्ड कॉलेज ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट फरुखनगर, गुरुग्राम के प्रांगण में फ्रेशर पार्टी 2023 का आयोजन बेहद मौज-मस्ती से भरा रहा। कॉलेज के रजिस्ट्रार युद्धवीर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि फ्रेशर पार्टी 2023 में इंडिया के जाने माने व बॉलीवुड के लोकप्रिय डीजे अकील ने धमाल मचा दिया और अपने जोशीले गानों से सभी को थिरकने पर मजबूर कर दिया। 


यह भी पढ़ें: सीआईएसएफ एएसजी वाराणसी हवाई अड्डे ने वाराणसी जिले के आराजीलाइन ब्लॉक में "मेरी माटी मेरा देश" अभियान में उत्साहपूर्वक भाग लिया

इस अवसर पर इंजीनियरिंग, बिज़नेस एडमिंस्ट्रेशन और कंप्यूटर एप्लीकेशन के नए बैच के छात्रों ने अत्यंत खूबसूरत रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इस अवसर पर नए छात्रों द्वारा रैंप वॉक का प्रदर्शन किया गया, इसमें चुने गए विद्यार्थियों को अपना टैलेंट दिखाने का अवसर भी मिला, जिनके प्रदर्शन को देखकर सभी अध्यापक व विद्यार्थी मंत्रमुग्ध हो गए।

यह भी पढ़ें: वायरल फीवर की प्राथमिक जांच व उपचार के लिए हेल्थ एंड वेलनेस पर ज़ोर"

बी.टेक में कुमार गौरव और वाणी बामेल को क्रमश मिस्टर डब्ल्यूसीटीएम और मिस डब्ल्यूसीटीएम के ख़िताब से नवाज़ा गया, श्रेया झा  (बी.टेक) ने मिस एलिगेंट का खिताब जीता। बबनीक कौर व देवेन्द्र को क्रमश: मिस और मिस्टर हॉस्टल के खिताब के लिए चुना गया। लविशा व वैष्णव को क्रमश मिस और मिस्टर डब्ल्यूसीटीएम कंप्यूटर एप्लीकेशन तथा रूपाली (एमसीए) को मिस टैलेंटेड का खिताब के लिए चुना गया। बिज़नेस एडमिंस्ट्रेशन डिपार्टमेंट के छात्रों में अंजुल को मिस डब्ल्यूसीटीएम और सौरभ को मिस्टर डब्ल्यूसीटीएम के शीर्षको से सम्मानित किया गया। परवीन को मिस्टर टैलेंटेड व  युवराज को मिस्टर एलिगेंट खिताब के लिए चुना गया। 

यह भी पढ़ें: सारनाथ के घुरहूपुर में चला विकास प्राधिकरण का जेसीबी, कॉलोनाइजरों में हड़कंप

वर्ल्ड कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट के मैनेजिंग ट्रस्टी कुंवर निशांत सिंह ने नए बैच के सभी एम.सी.ए, एम.बी.ए, एम.टेक, बी.टेक, बी.बी.ए, बी.सी.ए और डिप्लोमा के छात्र-छात्राओं को अपनी शुभकामनाएं व भविष्य में सफलता के लिए आशीर्वाद दिया और छात्रों को पूर्ण मनोयोग, लगन, निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ अध्ययन करने के लिए प्रेरित किया।

यह भी पढ़ें: इन 2 राशियों के लिए 'मंगल' का दिन भारी, पढ़ें मेष से लेकर मीन तक का राशिफल

इस अवसर पर डॉ. अजय कुमार डागर (प्राचार्य), डॉ. हिमानी अवस्थी, विभागाध्यक्ष (बिज़नेस एडमिंस्ट्रेशन), डॉ. क्षमता चुघ, विभागाध्यक्ष (एप्लाइड साइंस एंड हूमाँटिएस), डॉ.उमा, विभागाध्यक्ष (कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग), अंकित सेठी, विभागाध्यक्ष (सिविल इंजीनियरिंग), रणजीत सिंह विभागाध्यक्ष (मैकेनिकल इंजीनियरिंग ), श्रद्धा चौरसिया,  प्लेसमेंट एंड ट्रेनिंग आदि उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: एक नजर इधर भी सरकार, इस रास्ते से जाने पर मरीज को अस्पताल में डॉक्टर से पहले ही भगवान मिल जाते हैं

Monday, October 9, 2023

महिलाओं को सशक्त करेगा नारी शक्ति वंदन विधेयक - नम्रता चौरसिया

वाराणसी: भारतीय जनता पार्टी, महिला मोर्चा महानगर वाराणसी ने नारी शक्ति वंदन अधिनियम बिल के बारे में महिलाओं को जागरूक करने के लिए अस्सी स्थित झांसी की रानी जन्मस्थली से पदयात्रा निकाली।


यह भी पढ़ें: बरेका में विशेष अभियान 3.0 के अंतर्गत ब्लाक एवं इंजन डिवीजन के कार्यालय में साफ-सफाई हेतु श्रमदान कर दिया गया स्वच्छता जागरुकता का संदेश

इस दौरान यात्रा में शामिल महिला मोर्चा काशी क्षेत्र अध्यक्ष नम्रता चौरसिया ने कहा कि नारी शक्ति वंदन अधिनियम विधेयक महिलाओं के लिए बहुत बड़ा सम्मान है। आज जीवन के हर क्षेत्र में महिलाएं पुरुषों के साथ न सिर्फ कंधा से कंधा मिलाकर काम कर रही है बल्कि सेना और अंतरिक्ष विज्ञान जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में भी उल्लेखनीय सफलताएं प्राप्त करते हुए आसमान की बुलंदियों को छू रही हैं। ऐसे में देश के सर्वोच्च सदन द्वारा नारी शक्ति वंदन अधिनियम विधेयक पास कर महिलाओं को और सशक्त करने का काम किया गया है। इसका सारा श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जाता है।

यह भी पढ़ें: 1018 करोड़ के लागत से यू पी के इस एअरपोर्ट का होगा विस्तार, नए टर्मिनल भवन के साथ रनवे का भी बदलेगा स्वरूप

पदयात्रा में शामिल भाजपा महानगर उपाध्यक्ष डॉ गीता शास्त्री ने कहा कि भाजपा की मोदी योगी सरकार महिलाओं के शिक्षा, सुरक्षा, सम्मान, स्वास्थ्य एवं स्वावलंबन के लिए लगातार प्रयासरत है। महिला मोर्चा महानगर अध्यक्ष एवं पार्षद कुसुम पटेल ने कहा कि उज्ज्वला योजना, जन - धन, आयुष्मान कार्ड, राशन कार्ड, प्रधानमंत्री आवास जैसी अनेक योजनाओं का सीधा लाभ महिलाओं को मिल रहा है।

यह भी पढ़ें: ब्रेकिंग न्यूज़:नैनीताल में बड़ा हादसा, 32 लोगों को ले जा रही बस खाई में गिरी, SDRF चला रही राहत और बचाव अभियान

इस दौरान मुख्य रूप से महिला मोर्चा क्षेत्रीय अध्यक्ष नम्रता चौरसिया, महानगर अध्यक्ष कुसुम सिंह पटेल, कार्यक्रम संयोजक आरती पाठक, डॉ गीता शास्त्री, नेहा कक्कड़, संध्या पांडेय, सुनीता गुप्ता, नीतू सिंह, बबीता चौरसिया, किरन यादव, नगीना यादव, सीमा तिवारी, ज्योत्सना बाजपेई, आशा सिंह आदि मौजूद रहीं।

यह भी पढ़ें: इन दो राशियों को मिलेगा एक्स्ट्रा पैसे कमाने का मौका, सेहत को लेकर सावधान रहें ये लोग

Wednesday, October 4, 2023

मोदी सरकार का महिलाओं को तोहफा, उज्जवला योजना में फिर किया बंपर इजाफा

वाराणसी: देश की मोदी सरकार ने उज्‍जवला योजना के लाभार्थियों को दिवाली से पहले बड़ा तोहफा दिया है. केंद्र सरकार ने बुधवार को प्रधानमंत्री उज्‍जवला योजना के लाभार्थियों के लिए सब्सिडी को बढ़ाकर 300 रुपये कर दिया है. इसका मतलब यह है कि अब उज्‍जवला योजना के लाभार्थियों को 200 रुपये के बजाय 300 रुपये सब्सिडी मिलेगी. 


यह भी पढ़ें: मरीजों से प्लेटलेट्स की अनावश्यक मांग पर निजी चिकित्सालयों को निर्देश जारी

रसोई गैस सिलेंडर 100 रुपये और सस्‍ता हुआ 
केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि मोदी कैबिनेट ने इससे पहले रक्षा बंधन पर गैस सिलेंडर की सब्सिडी में इजाफा किया था. अब ओणम के अवसर पर रसोई गैस के सिलेंडर में 200 रुपये की कटौती की गई है. केंद्रीय मंत्री ने बताया कि पीएम उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस सिलेंडर 100 रुपये और सस्‍ता हो गया है.  

यह भी पढ़ें: अनावश्यक प्लेटलेट चढ़ाने से मरीज की तबीयत और हो सकती है खराब

गैस सिलेंडर कितने में मिलेगा
केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के मुताबिक, 14.2 किलो वाला LPG सिलेंडर अभी आम लोगों को 903 रुपये में मिलता है. वहीं, उज्‍जवला योजना के तहत यही सिलेंडर 700 रुपये में मिलता था. अब उज्‍जवला योजना के लाभार्थियों को 300 रुपये की सब्सिडी मिलेगी. यानी उन्‍हें रसोई गैस सिलेंडर अब 600 रुपये में ही मिल जाएगा.  

यह भी पढ़ें: भरणपोषण याचिका में झूठा शपथपत्र देने पर हाई कोर्ट ने पत्नी को नोटिस जारी कर मांगा जवाब....

योजना का लाभ कैसे उठाएं
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उज्ज्वला योजना की शुरुआत मई 2016 में की थी. योजना के लाभार्थियों को पहली बार में गैस सिलेंडर और गैस चूल्हा मुफ्त में दिया जाता है. ग्रामीण और वंचित परिवारों को LPG गैस सिलेंडर देकर मोदी सरकार करोड़ों लोगों को लाभान्वित कर रही है. 

Friday, September 29, 2023

विधायक समेत कार्यकर्ताओं ने सेवा बस्तियों में किया संपर्क अभियान

वाराणसी: भारतीय जनता पार्टी के सेवा पखवाड़ा के तहत अनुसूचित जाति के सेवा बस्तियों में संपर्क अभियान के तीसरे दिन कैंट विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने स्थानीय लोगों से संपर्क किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सेवा और समर्पण की पार्टी है। जिसका उद्देश्य सिर्फ सत्ता प्राप्त करना ही नहीं, बल्कि राष्ट्र को परम वैभव तक पहुंचाने का है। इसके लिए जनप्रतिनिधि व कार्यकर्ता गांव की सेवा बस्तियों में संपर्क कर केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार की दलितों के हित में चलाई जा रही लोक कल्याण योजनाओं को बताने का काम कर रहे हैं।


यह भी पढ़ें: मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप चौधरी ने शहरी क्षेत्र में मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य को बेहतर करने को लेकर दिया ज़ोर

उन्होंने कहा कि एक धरती एक परिवार और एक भविष्य के अनुरूप प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हर वर्ग का सरोकार हो रहा है आज हर वर्ग के लोगों का विश्वास भाजपा और पीएम के प्रति बड़ा है सभी वर्गों के सहयोग से 2024 में फिर से भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी।

उत्तरी विधानसभा की विभिन्न सेवा बस्तियों में संपर्क के दौरान भाजपा प्रदेश मंत्री मीना चौबे, क्षेत्रीय मंत्री राकेश शर्मा व डॉ सुदामा पटेल ने कहा कि जहां पूर्ववर्ती सरकारों में जाति विशेष के लोगों को ही योजनाओं का लाभ मिलता था, वहीं अब बिना किसी भेदभाव के लाभ पहुंचाने का काम पार्टी कर रही है। 

यह भी पढ़ें: दिव्यांग राष्ट्रीय टी-20 मैच में बंगाल ने ट्रॉफी जीती और उत्तर प्रदेश ने दिल जीता

इस अभियान के महानगर प्रमुख एडवोकेट अशोक कुमार जाटव ने कहा कि सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास के मूल मंत्र के साथ काम करना है। महानगर मीडिया प्रभारी किशोर कुमार सेठ ने बताया कि महानगर के सभी 13 मंडलों के मंडल अध्यक्ष के नेतृत्व में सेवा बस्तियों में संपर्क अभियान चलाकर बाबा साहब अंबेडकर के विचारों को जन-जन तक पहुंचाया जा रहा है तथा कार्यकर्ता केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा किए गए कार्यों व योजनाओं के बारे में भी जानकारी दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें: मोदी की चुप्पी, मोदी के बोल!