Latest News

Varanasi News
Purvanchal News

Gallery

Breaking News

Election

News

Recent Posts

Thursday, February 2, 2023

बजट पर उ.प्र. कांग्रेस कमेटी के प्रदेश प्रांतीय अध्यक्ष, पूर्व मंत्री अजय राय ने कसा तंज

प्रदेश प्रांतीय अध्यक्ष, पूर्व मंत्री अजय राय ने कहा की - मोदी सरकार में रोज़गार नहीं, कारोबार नहीं, आमदनी नहीं, बचत नहीं, बस झूठा प्रचार और मार्केटिंग जारी है न किसान न जवान न नौजवान किसी के लिए कोई सुविधा नही है।बजट में आमजनों के लिये कोई प्रावधान नही है।


सीडीओ की अध्यक्षता आयोजित हुई जिला टीबी टास्क फोर्स की बैठक

अमृत काल में अमृत के लिये तरस रहा है आम इंसान इस बजट से पूँजीपतियों की लूट और आसान हो गई।भाजपाई बजट महंगाई व बेरोज़गारी का पर्याय है। किसान, मज़दूर, युवा, महिला नौकरीपेशा, व्यापारी वर्ग में इससे आशा नहीं निराशा बढ़ती है क्योंकि ये चंद बड़े लोगों को ही लाभ पहुँचाने के लिए बना है।आज का बजट उद्योगपतियो को फायदा पहुचाने वाला बजट है भारतीय जनता पार्टी देश की जनता के साथ विश्वासघात कर रही है।

जागरुकता ही ‘सर्वाइकल कैंसर’ से बचाव का बेहतर उपाय

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें पूर्वांचल खबर आज की ताजा खबरलाइव न्यूज अपडेटपढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी ऑनलाइन न्यूज़ वेबसाइट purvanchalkhabar.co.in हिंदी |

इस आर्टिकल को शेयर करें

हमारे Whatsapp Group से जुड़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें 

अपने शहर की खास खबरों को अपने फ़ोन पर पाने के लिए ज्वाइन करे हमारा Whatsapp Group मोबाइल नंबर 09355459755 / खबर और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें।

सीडीओ की अध्यक्षता आयोजित हुई जिला टीबी टास्क फोर्स की बैठक

वाराणसी: जनपद को वर्ष 2025 तक टीबी मुक्त बनाने के लिए निरंतर कार्य किये जा रहे हैं। इसी कड़ी में बुधवार को राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम और पीएम टीबी मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत डिस्ट्रिक्ट टीबी फोरम की बैठक विकास भवन सभागार संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता कर रहे मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) हिमांशु नागपाल ने जनपद को क्षय रोग मुक्त बनाने के लिए किये जा रहे प्रयासों पर चर्चा की। 


जागरुकता ही ‘सर्वाइकल कैंसर’ से बचाव का बेहतर उपाय

बैठक में सीडीओ ने टीबी संबंधी सभी सूचकांकों की समीक्षा की। जनपद के राजकीय चिकित्सालयों डीडीयू चिकित्सालय पाण्डेयपुर, एलबीएस चिकित्सालय रामनगर तथा सुन्दरलाल बीएचयू तथा सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ओपीडी में देखे जा रहे मरीजों के पाँच प्रतिशत की बलगम जांच किये जाने पर चर्चा की गयी जिससे मरीज को चिन्हित कर उसका जल्द से जल्द से इलाज प्रारंभ किया जा सके और इसको नियंत्रण में लाया जा सके। हर 15 तारीख को मनाए जाने वाले एकीकृत निक्षय दिवस पर जानकारी ली। इसके साथ ही टीबी मरीजों के साथ परिवार के सभी सदस्यों के लिए टीबी प्रिवेंटिव थेरेपी (टीपीटी) के बारे में विस्तार से चर्चा हुई। उन्होने कहा कि टीबी मुक्त भारत अभियान पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री की पूरी नजर है। 

कांग्रेस के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता ने अपर पुलिस आयुक्त से लगाई न्याय की गुहार, मिला आश्वासन

सीडीओ ने कहा कि जनपद के सभी चिकित्सालय चाहे वह सरकारी हो अन्यथा निजी हों, वह सभी टीबी के मरीजों को शत-प्रतिशतता से नजदीकी बलगम जांच केंद्र रेफरल की व्यवस्था सुनिशिचित करें, जिससे उनका उनका इलाज संपूर्ण रूप से चलाया जा सके। उन्होंने निजी क्षेत्र में नोटिफिकेशन का बढ़ाने और डीबीटी का भुगतान शत-प्रतिशत करने के लिए निर्देशित किया। इसके साथ ही जनपद में सभी सक्रिय टीबी मरीजों को गोद लेने के लिए हर विभाग और स्वयं सेवी संस्थाओं को प्रेरित करे। उनको मिलने वाली पोषण पोटली हर माह नियमित प्रदान की जाए। सभी सीनियर टीबी सुपरवाइज़र (एसटीएस) भी टीबी मरीजों को गोद लें और उनके सभी कार्यों की नियमित निगरानी की जाए जो भी एसटीएस कार्य में लापरवाही कर रहा है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। जिन एसटीएस के क्षेत्र के टीबी मरीजों की बैंक अकाउंट डिटेल 50 प्रतिशत से अधिक लंबित है उनका वेतन रोकने के लिए निर्देशित किया।

Breaking News: धनबाद के आशीर्वाद टावर में लगी भीषण आग, अब तक 3 की मौत, कई लोग फंसे

बैठक में आंकड़ों पर भी चर्चा की गई जिसमें बताया कि वर्ष 2021 में आउटकम का परिणाम लक्ष्य के सापेक्ष 89 प्रतिशत रहा। वर्तमान में 6208 सक्रिय रोगी हैं जिसमें 4545 रोगियों ने गोद लेने के लिए उपचार, पोषण और भावनात्मक सहयोग सहमति दी है। जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ पीयूष राय ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से समस्त टीबी मुक्त भारत अभियान की कार्य प्रगति के बारे में अवगत कराया। साथ ही उन्होंने निजी क्षेत्र के समस्त चिकित्सालयों, प्रयोगशालाओं, चिकित्सकों एवं समस्त औषधि विक्रेताओं के यहां उपचार एवं अन्य सुविधाएं प्राप्त करने वाले क्षय रोगियों को उनके नोटिफाई करने की सूचना प्रदान किये जाने पर चर्चा की। उन्होने बताया कि निक्षय पोषण मिशन के तहत चिन्हित टीबी के मरीजों को हर माह 500 रुपये की आर्थिक सहायता राशि दी जाती है।  

महादेव पीजी कॉलेज में कैरियर काउंसलिंग संबंधी कार्यशाला संपन्न 

बैठक में उप जिला क्षय रोग अधिकारी, एमओ डीटीसी, चिकित्सालयों के टीबी प्रभारी, जिला कार्यक्रम समन्वयक, जिला पब्लिक प्राइवेट मिक्स समन्वयक, जिला टीबी एचआईवी समन्वयक, जिला एड्स नियंत्रण कार्यक्रम इकाई व एसटीएस ने प्रतिभाग किया।

मजबूती का नाम महात्मा गांधी है - शशिप्रताप सिंह

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें पूर्वांचल खबर आज की ताजा खबरलाइव न्यूज अपडेटपढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी ऑनलाइन न्यूज़ वेबसाइट purvanchalkhabar.co.in हिंदी |

इस आर्टिकल को शेयर करें

हमारे Whatsapp Group से जुड़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें 

अपने शहर की खास खबरों को अपने फ़ोन पर पाने के लिए ज्वाइन करे हमारा Whatsapp Group मोबाइल नंबर 09355459755 / खबर और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें।

जागरुकता ही ‘सर्वाइकल कैंसर’ से बचाव का बेहतर उपाय

वाराणसी: कैंसर से महिलाओं की होने वाली मौत के सबसे बड़े कारणों में से एक है  ‘सर्वाइकल कैंसर’ (बच्चेदानी के मुंख का कैंसर)। इसके लक्षणों की पहचान कर इसका समय से उपचार कराया जाये तो यह ठीक भी हो जाता है लेकिन आमतौर पर महिलाएं इस बीमारी के लक्षणों के प्रति गंभीर नहीं होती हैं। यही लापरवाही उनके लिए जानलेवा हो जाती हैं। 


कांग्रेस के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता ने अपर पुलिस आयुक्त से लगाई न्याय की गुहार, मिला आश्वासन

सर्वाइकल कैंसर जागरुकता माह” के समापन के अवसर पर मंगलवार को  पं. दीनदयाल उपाध्याय चिकित्सालय के सभागार में आयोजित गोष्ठी में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संदीप चौधरी ने उक्त विचार व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि सर्वाइकल कैंसर के लक्षण नजर आते ही तत्काल जांच कराकर उपचार शुरू करा  देना चाहिए। इस सम्बन्ध में परामर्श की सुविधा सभी सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध है। गोष्ठी में पं. दीनदयाल उपाध्याय चिकित्सालय स्थित एमसीएच विंग की स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डा. आरती 'दिव्या'  ने सर्वाइकल कैंसर के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि गर्भाशय के मुंख का कैंसर ह्यूमन पैपीलोमा वायरस (एचपीवी) के कारण होता है। शारीरिक सम्पर्क के दौरान यह वायरस गर्भाशय के मुख तक पहुंच जाता है और उसे धीरे-धीरे संक्रमित करना शुरू कर देता है। 

Breaking News: धनबाद के आशीर्वाद टावर में लगी भीषण आग, अब तक 3 की मौत, कई लोग फंसे

खास बात यह है कि गर्भाशय के मुख में एचपीवी से हुए संक्रमण को कैंसर में तब्दील होने में सामान्यतः दस से बीस वर्ष या इससे अधिक का समय लग जाता है। ऐसे में अगर समय रहते जांच कराकर संक्रमण का उपचार करा लिया जाए  तो बच्चेदानी के मुंख के कैंसर से पूरी तरह बचा जा सकता है। लिहाजा 30 से 60 वर्ष तक की महिलाओं को समय-समय पर जांच अवश्य करानी चाहिए ताकि उन्हें एचपीवी संक्रमण है तो उपचार कर उसे फौरन खत्म किया जा सके। उन्होंने बताया कि मैनोपोज के बाद भी ब्लीडिंग, पीरियड  खत्म होने के बाद भी रक्तस्राव और यौन सम्बन्ध के बाद रक्तस्राव की समस्या सर्वाइकल कैंसर के लक्षण हो सकते है। लिहाजा इसे गंभीरता से लेना चाहिए और समय रहते जांच कराकर उपचार कराना चाहिए।

महादेव पीजी कॉलेज में कैरियर काउंसलिंग संबंधी कार्यशाला संपन्न 

पं. दीनदयाल उपाध्याय चिकित्सालय के चिकित्सा अधीक्षक डा. प्रेम प्रकाश ने कहा कि सर्वाइकल कैंसर के लक्षणों पर यदि शुरुआत में ही ध्यान दिया जाय तो यह उपचार से पूरी तरह ठीक हो जाता है लेकिन आमतौर पर महिलाएं ऐसी समस्याओं को गंभीरता से नहीं लेती जिसका नतीजा होता है कि यह रोग उनके लिए जानलेवा हो जाता है। उन्होंने बताया कि शुरूआती लक्षण नजर आते ही ‘क्रायोथेरेपी’ कराने पर सर्वाइकल कैंसर होने का खतरा खत्म हो जाता है। उन्होंने बताया कि इसमें गर्भाशय के मुख की ठंडी सिकाई की जाती है। इस उपचार के लिए मरीज को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत भी नहीं होती। गर्भाशय का मुख एचपीवी वायरस से संक्रमित है या नहीं। इसका पता लगाने के लिए वीआई विधि से जांच की जाती है। 

इस जांच में भी मात्र दो मिनट लगता है। संक्रमण का पता चलते ही उसी समय गर्भाशय के मुख की ‘क्रायोथेरेपी” की जाती है जिससे संक्रमण के साथ ही सर्वाइकल कैंसर का खतरा खत्म हो जाता है। उन्होने बताया कि जांच व क्रायोथेरेपी से उपचार की सुविधा पं. दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय के एमसीएच विंग में बने सम्पूर्णा क्लीनिक में उपलब्ध है। महिलाओं को इसका लाभ उठाना चाहिए। संगोष्ठी में पं. दीनदयाल उपाध्याय चिकित्सालय के कार्यकारी चिकित्सा अधीक्षक डा. बी. राम. के अलावा डा. ज्योति ठाकुर, प्रीति यादव समेत अन्य चिकित्सक व चिकित्साकर्मी मौजूद थे।

मजबूती का नाम महात्मा गांधी है - शशिप्रताप सिंह

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें पूर्वांचल खबर आज की ताजा खबरलाइव न्यूज अपडेटपढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी ऑनलाइन न्यूज़ वेबसाइट purvanchalkhabar.co.in हिंदी |

इस आर्टिकल को शेयर करें

हमारे Whatsapp Group से जुड़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें 

अपने शहर की खास खबरों को अपने फ़ोन पर पाने के लिए ज्वाइन करे हमारा Whatsapp Group मोबाइल नंबर 09355459755 / खबर और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें।

Videos